William Shakespeare – विलियम शेक्सपियर की जीवनी

William Shakespeare का जीवन परिचय

नमस्कार दोस्तों किसी भी देश के साहित्य को आगे बढ़ाने में साहित्यकार और कवियों का विशेष योगदान होता है जिनके बारे में पढ़कर हम भी  खुद में बदलाव ला सकते हैं|  इनमें से कुछ कवि ऐसे हैं, जो आज  तक लोगों द्वारा याद किए जाते हैं और  उनकी लिखी कृतियों को सहेज कर रखा गया है| यह एक देश  मैं नहीं बल्कि विदेशी लोगों को बहुत पसंद आती हैं|  इनमें से एक महान साहित्यकार और कवि है विलियम शेक्सपियर।  निश्चित रूप से आपने उनके बारे में पढ़ा ही होगा और जानकारी प्राप्त की होगी| Swami Vivekananda जी का जीवन परिचय

 आज हम आपको William Shakespeare के बारे में सारी जानकारी विस्तार से बताने जा रहे हैं उम्मीद करते हैं आपको पसंद  आएगी|

विलियम शेक्सपियर का जन्म

William Shakespeare

William Shakespeare का जन्म 26 अप्रैल 1564  को इंग्लैंड  में हुआ था| उनके पिता का नाम मिस्टर जॉन  शेक्सपियर तथा माता का नाम मैरी शेक्सपियर था|  उनकी पत्नी का नाम एनी हाथावे था और उनके तीन बच्चे हुए|  इनके पिता शुरुआत में एक लोकल व्यापारी थे और उच्च  विभाग में मेयर के रूप में कार्य किए। विलियम  शेक्सपियर अपने माता-पिता की तीसरी संतान थे। William Shakespeare का निधन 23 अप्रैल 1616  को  हो गया था।

विलियम शेक्सपियर का व्यक्तिगत जीवन

जैसे-जैसे William Shakespeare की उम्र बढ़ती गई वैसे-वैसे उनका व्यक्तिगत जीवन बदलता चला गया। विलियम शेक्सपियर 18 वर्ष के थे तब 26 वर्षीय एनी के साथ उनका विवाह कर दिया गया और उसके बाद विलियम शेक्सपियर के 3 बच्चे हुए|  अगर उनकी शादी के बाद की बात की जाए तो यह जानकारी मिलना मुश्किल है कि बच्चे होने के बाद विलियम शेक्सपियर के जीवन में कौन से बदलाव आए  क्योंकि उन्होंने ज्यादातर अपना समय राइटिंग और नाटक के प्रदर्शन में लगा दिया था| 

विलियम शेक्सपीयर के नाटकों की शुरुआत

William Shakespeare को बचपन से ही नाटक लिखने और उसमें काम करने का शौक था और वहीं से ही उनके नाटकों की शुरुआत हो चुकी थी। लेकिन नाटक में करियर की शुरुआत सन 1585 में हुई जिसमें उन्होंने काफी लंबे समय तक काम किया। शुरू शुरू में William Shakespeare के नाटक को कोई समझ नहीं पाता था लेकिन धीरे-धीरे लोगों को उनका काम पसंद आने लगा और आलोचकों की संख्या कम होती चली गई|  अपने नाटक के काम को बढ़ाते हुए विलियम शेक्सपियर ने 1599 में अपना खुद का थिएटर खरीदा और उसका नाम  ग्लोब रख दिया|

 धीरे-धीरे उनके नाटक लोगों को पसंद आने लगे  और उनकी ख्याति एक बेहतरीन नाटककार के रूप में होने लगे। उनकी कंपनी की सफलता पर विलियम शेक्सपियर की फाइनेंशियल प्रॉब्लम को खत्म कर दिया था और उसके बाद सन 1603 में  ब्रिटिश की महारानी एलिजाबेथ की मौत के बाद उन्हें  नाटकों के लिए शाही पेटेंट के साथ कंपनी द्वारा सम्मानित किया गया|  धीरे-धीरे पूरे विश्व में अपने काम की वजह से  प्रसिद्ध होने लगे और अधिकतर  लोग उनके  प्रशंसकों में शामिल हो चुके थे|

विलियम शेक्सपियर की खासियत

विलियम शेक्सपियर लोगों के दिल में राज करने लगे थे तब उनकी लेखन क्षमता में उच्च कोटि की सृजनात्मकता प्रतिभा को देखा जा सकता था साथ ही साथ उन्हें अपने लेखन कला का विशेष ज्ञान भी हो चुका था|  उनकी लिखी हर कलाकृति लोगों द्वारा सराही गई बल्कि बहुत ज्यादा मुनाफा भी कमा गई  इसलिए विलियम शेक्सपियर को बेहतरीन कलाकारों में शामिल किया गया था|  उनकी जितनी भी रचनाएं हैं सभी ने संपूर्ण संसार में लोगों के दिल में जगह बनाई हैं जिसमें  किसी भी प्रकार के भेदभाव को नहीं देखा गया बल्कि समूचे रूप से ही देखा गया है|  ऐसा महसूस  किया जाता था कि उनकी रचनाओं से हमेशा जीवन का  एक नया अध्याय देखने को मिलता है, जिससे जीवन का दर्शन भी प्राप्त होता है|  विश्व के साहित्य में शायद ही ऐसा कोई दूसरा नाटककार नजर आए जो विलियम शेक्सपियर के बराबरी का हो या उनसे आगे का हो|

विलियम शेक्सपियर के रचनाओं की खास विशेषता

अगर आप William Shakespeare की किसी भी रचना का उल्लेख करते हैं तो आपको उन्हें कई सारी विशेषताएं नजर आएंगी जिसमें विशेषता  यह होती थी कि वे हमेशा सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का कार्य करते थे और लोगों का चरित्र चित्रण के द्वारा मनोरंजन भी किया करते थे। उस समय के युवक-युवतियों के मन में शेक्सपियर के लिए एक अलग ही भावना थी जो नाटक  के साथ-साथ उन्माद में बदल जाती थी|  कभी-कभी उनकी रचनाओं में कल्पनाशीलता को भी देखा जा सकता है इसके अलावा मानव जीवन की गंभीर समस्याओं को प्रकाशित भी किया गया है| 

William Shakespeare के  नाटक  प्राचीन यूनानी और लैट्रिन नाटकों की परंपरा से काफी पृथक होते थे जिनमें  शास्त्रीय  विशेषताओं को ढूंढना सही नहीं माना गया है।  उनके नाटकों से हमेशा प्रेरणा मिली है की  किस तरह से हिंसा और प्रतिशोध की अपेक्षा  दया और क्षमा अधिक  श्रेष्ठ है| 

विलियम शेक्सपियर की मुख्य रचनाएं

लोगों को इनकी रचनाएं बहुत पसंद आती थी, जो निम्न है

  1. Orthello
  2. Hemlet
  3. Romeo and juliet
  4. A midsummer Nights dream
  5. The Merchant of Venice
  6. Two Gentlemen of Verona
  7. As you like it
  8. Julius caesar
  9. The comedy of errors
  10. Taming of Shrew
  11. Titus Andronicus
  12.  King liar
  13.  Mechbath

यह सभी ऐतिहासिक नाटकों के रूप में जाने जाते हैं जिनके ऊपर कई प्रकार की फिल्में भी बनाई गई है जो लोगों को पसंद आई है। बॉलीवुड में भी विलियम शेक्सपियर की रचनाओं को एक  विशेष जगह दी गई है जिससे लोगों का प्यार मिला है।

William Shakespeare का अजीब डर

हम इंसानों को हमेशा किसी ना किसी बात का डर लगा रहता है ऐसे में विलियम शेक्सपियर भी  ऐसे डर से ग्रसित थे जो बहुत ही दुर्लभ था| हमें अपने जीवन में कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है लेकिन इस बात का डर शेक्सपियर को था कि मरने के बाद उनका क्या होगा?  ऐसा माना जाता है कि इस तरह से बचने के लिए उन्होंने खुद को  बद्दुआ दे दिया था| इसके साथ ही साथ यह भी माना गया कि उनके द्वारा लिखा गया नाटक Mecbeth  मैकबेथ को चुड़ैलों का श्राप मिला है और इसी वजह से उस नाटक में काम करने वाले लोगों को नुकसान हुआ है|  शेक्सपियर  के डर का कारण यह भी है|  उन्होंने तो डर की वजह से अपने कब्र को भी श्राप दिया था कि जो भी इस कब्र के पास आएगा वह कहीं ना कहीं शापित हो जाएगा इससे संबंधित कविता उन्होंने अपनी कब्र पर ही पहले ही  खुदवाली  थी वह भी अपने डर की वजह से|  ऐसे  हमेशा से ही  शेक्सपियर के डर को अजीब रूप से देखा गया है|

William Shakespeare के कुछ अनमोल कथन

1]  होना या ना हो ना बस यही सवाल है|

2]   छोटी मोमबत्ती की रोशनी कितनी दूर तक जाती है|  इस पूरी दुनिया में एक अच्छा ही कुछ समय के लिए ही रोशन रह सकती है|

3]    यह दुनिया एक रंगमंच है और हम सभी इस के अभिनेता हैं|   सबके प्रवेश और बाहर जाने का समय निश्चित है  और एक व्यक्ति अपने समय के अंतराल में कई चरित्र निभाता है वह भी अलग-अलग रूपों में|

4]    खाली बर्तन सबसे ज्यादा शोर करते हैं|

5]    कायर मौत से पहले कई बार मर जाते हैं शूरवीर केवल एक बार|

6]     स्वर्ण  काल  हमारे सामने है ना कि  हमारे पीछे|

7]     ईर्ष्या से सावधान रहें क्योंकि यह  हरे आंखों वाला राक्षस है जो उसे शरीर को कुछ समझता है और धोखा देता है जिस पर वह पनपता है|

8]     एक पुरानी कहावत है जो मेरे लिए भी लागू होती है आप ऐसा खेल नहीं  हार सकते जो आप नहीं खेल रहे हैं|

9]     1 मिनट की देरी से 3 घंटे पहले पहुंचना बेहतर है|

10]    कुछ भी अच्छा या बुरा नहीं होता है हमारे विचार हैं उन्हें अच्छा या बुरा बना देते हैं|

11]     सरल और अद्वितीय होने की इच्छा  के सामान कुछ भी  सामान्य नहीं है|

12]     नरक रिक्त है और  दानव यहां है|

13]      मैं तुम्हें बुद्धिमत्ता की लड़ाई के लिए ललकारा लेकिन मैं देखता हूं कि तुम  निहत्थे हो|

14]     महानता से डरो मत,  कुछ लोग महान पैदा होते हैं, कुछ महानता प्राप्त करते हैं और कुछ लोगों में महानता  नित होती है|

15]      हर किसी से प्यार करो,  कुछ पर विश्वास करो  और किसी को भी नुकसान नहीं  पहुंचाओ| 

विलियम शेक्सपियर का काव्य के प्रति शुरू हुआ कार्यकाल

William Shakespeare एक नाटककार और अभिनेता के साथ-साथ अंग्रेजी कवि भी थे जिन्होंने अपने नाट्यकला में कई प्रकार की कविता लिखने की कोशिश की थी|  अपनी इस पहल को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने समय दो कविताएं लिखी थी जिसमें से एक ‘’ venus and adonis ‘’ और ‘’ The rape of lucrece ‘’  जिसे उन्होंने अलग-अलग लोगों को समर्पित कर दिया था। उनकी कविताओं में भावनात्मक पहलू देखने को मिलता है इसके बाद शेक्सपियर ने ‘’ A lovers complaint ‘’  कविता में महिला के पहलू को बताया था जो अपने प्रेमी द्वारा प्रलोभन के प्रयासों के कारण में  पीड़ा  में पहुंच गई|  जिसमें आगे चलकर शोक व्यक्त किया गया है| 

 इसी प्रकार  शेक्सपियर ने अपने काम को cenets  कहा  जिसमें उन्होंने अनेक  प्रकार के काम को  शामिल किया |  उन्होंने अपनी असामान्य जीवनशैली और जुनूनी भावना को व्यक्त किया है  जो जीवन के संपूर्ण बातों को बताता है|  उन्होंने अपने जीवन में कम से कम 100 से ज्यादा cenets बनाएं   जिसके माध्यम से उनकी बहुत अच्छी कमाई हो गई और उन्होंने खुद का एक आलीशान  घर खरीद लिया| 

अंतिम शब्द

इस प्रकार से हमने जाना कि विलियम शेक्सपियर ने समूचे विश्व में अपना नाम अपनी रचनाओं के माध्यम से ऊंचा कर लिया था| जिसे बड़ी-बड़ी हस्तियों द्वारा भी पसंद किया गया और विलियम शेक्सपियर को उचित मान-सम्मान भी प्राप्त हुआ|   उनके काम का नतीजा है इतने वर्षों बाद भी लोगों को उनका नाम और उनका काम दोनों ही पसंद है|  आज भी लोग उनकी रचनाओं को पढ़ना पसंद करते हैं और उनमें  एक नई  उर्जा को खोजते हैं|  आप और हम भी मिलकर उनकी रचनाओं से  सीख ले सकते हैं और उन्हें अपने जीवन में भी लागू किया जा सकता है|

 उम्मीद करते हैं आपको हमारा लेख पसंद आएगा धन्यवाद 

Leave a Comment

error: Content is protected !!