Overthinking in hindi: अत्यधिक सोच से छुटकारा कैसे पायें

Overthinking in hindi 

Overthinking in hindi

आपने गौर किया होगा कि जब भी हमें किसी भी प्रकार की समस्या  या परेशानी होती है,  तो हम बार-बार उसी के बारे में सोचने लगते हैं जिससे हमारा दिमाग खराब हो जाता है|  

जिंदगी में ऐसे कई मोड़ आते हैं, जहां पर हमें इस प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ता है और हम एक ही बात को  सोचते  हुए अपनी तबीयत खराब कर देते हैं|  जब आप और हम  एक ही बात  बार बार सोचते  या याद  करने  लगते हैं, ऐसे में हम कहीं ना कहीं  Overthinking के शिकार होते हैं,  जिसे सही तरीके से समझा जा सकता है, अगर आप समस्या को दूर करना चाहे तो|

Overthinking का hindi में मतलब 

Overthinking को hindi में अत्यधिक सोचना कहा जाता है| जब आप किसी भी परेशानी के बारे में लगातार सोचते रहते हैं या फिर किसी से बातें करते रहते हैं|  दिन  मैं आप चाहे कोई भी काम करें लेकिन आप हमेशा  Overthinking  के शिकार नजर आते हैं,  जिसे सही नहीं माना जा सकता है|

 Overthinking के मुख्य लक्षण

Overthinking एक बहुत बड़ी मानसिक समस्या नहीं है लेकिन कई बार यह अपने रूप को  बदलते  है और आप  इसे समझ नहीं पाते|   ऐसे में आज हम आपको Overthinking के कुछ मुख्य लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं—

  • ऐसे समय में हम बार-बार उन पलों को याद करते हैं जिनकी वजह से हमें शर्मिंदा होना पड़ा हो या फिर  किसी ने  हमारी बेइज्जती  करी हो|
  •  नींद ना आने की समस्या होती है और अगर नींद आती भी है तो बहुत रात होने पर|
  •  जो भी बातें गुजर चुकी हैं उनके बारे में बार-बार  आकलन  करना या बातें करना|
  •  जो नहीं हो सकता उसके बारे में बोलते रहना और लोगों को परेशान करते  रहना|
  •  आने वाले कल की चिंता नहीं करना और जो बीत चुका है उसके बारे में सोचते हुए अपनी तबीयत को  खराब कर देना|
  •  अपनी परेशानियों को कभी भी मन से नहीं निकाल पाना और लगातार  सोचते  रहना|

Overthinking के प्रकार 

Overthinking मुख्य दो प्रकार की होती है

  • आने वाले कल के बारे में सोचना 
  •  बीते हुए कल के लिए परेशान होना

 इस समस्या के अंतर्गत  हम सब आने वाले कल के बारे में सोच कर परेशान होते रहते हैं या फिर  बीते हुए  कल जिसे  हम बदल नहीं सकते,  उसके बारे में ही लगातार सोचते रहते हैं और अपनी समस्याओं को दूसरों के साथ शेयर करते हैं|

Overthinking की वजह से होने वाली बीमारियां 

जी हां आपने बिल्कुल सही पढ़ा|  Overthinking की वजह से कई सारी बीमारियां हैं, जिनको हम खुद ही बुलावा देते हैं और बाद में परेशान होते हैं|   बार-बार एक ही बात को सोचना सही नहीं है और इस वजह से हमें कुछ बीमारियां भी हो सकती हैं|  ऐसे में आपको और हमको सावधान रहने की आवश्यकता है ताकि इन बीमारियों से दूर हो जा सके|

  • सिरदर्द की समस्याबहुत ज्यादा सोचने की वजह से सिरदर्द की समस्या होने लगती है शुरुआत में तो आपको समझ में नहीं आता लेकिन धीरे-धीरे आप भी महसूस करेंगे कि लगातार सोचते  रहने से  हमारे मस्तिष्क  के ऊपर कोई असर होता है  और जिस वजह से सिर दर्द की समस्याएं हो जाती हैं|
  • नींद ना आने की समस्यालगातार Overthinking की वजह से नींद ना आने की समस्या होती है|  दरअसल Overthinking  मैं  आप हद से ज्यादा किसी बात के लिए सोचने लगते हैं और इस वजह से आपका मानसिक स्तर कुछ हद तक कम होने लगता है और आपको नींद ना आने की समस्या होती है| अगर नींद आ जाती है, तो देर रात होने पर  खुल  भी जाती है और दोबारा नींद आना मुश्किल होता है|
  • ब्लड प्रेशर पर होता है असरज्यादा सोचते रहने की वजह से हमारे आंतरिक रूप से भी असर होने लगता है और लगातार ब्लड प्रेशर ऊपर नीचे होने लगता है जिससे चक्कर आने की संभावना होती है| 
  • किसी काम में मन ना लगना — जब भी आप कोई काम करना चाहते हैं, तो  उसमें  आपका मन ही नहीं लगता क्योंकि आप  Overthinking  के शिकार हो चुके हैं और बार-बार एक ही बात की तरफ  ध्यान  चला जाता है| ऐसे में कोशिश  करें  कि अपने  मन को काबू में करते हुए दूसरी बातों पर ध्यान लगाएं|

Overthinking की वजह से हो सकती है  मानसिक रूप से समस्याएं

Overthinking  एक ऐसी समस्या है, जिसके माध्यम से आप  लगातार परेशान होते हैं और इसकी वजह से शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी आप काफी हद तक परेशान हो चुके होते हैं। 

अगर आप किसी बात  या  चीज को लेकर बार-बार सोच विचार करते हैं, तो ऐसे समय में आपके शरीर में कार्टीसोल  हार्मोन बढ़ने लगता है, जिसकी वजह से आप मानसिक रूप से भी समस्याओं से ग्रसित होने लगते हैं|

 इसके साथ ही साथ अगर आप ओवरथिंकिंग के शिकार होते जा रहे हैं, तो आपकी  इम्यूनिटी भी काफी हद तक प्रभावित होती है, जिसकी वजह से मानसिक समस्याएं शुरू होने लगती हैं| 

 शुरू शुरू  मैं आपको इस बात का एहसास नहीं होता लेकिन धीरे-धीरे पता चल जाता है कि आप की इम्युनिटी ओवरथिंकिंग की वजह से कम होती जा रही है  और इस वजह से आप जल्दी-जल्दी बीमार पड़ते हैं, जो आपकी शारीरिक समस्याओं को बढ़ाने का काम करते हैं| daily routine

 एक ताजा सर्वे के अनुसार यह बात सामने आई है कि Overthinking की वजह से हार्मोन  मैं असंतुलन पैदा होता है जिस से लगातार हमारा मूड खराब होने लगता है और हम उदासी की ओर चले जाते हैं|  कई बार ओवरथिंकिंग की वजह से हम दूसरी बातों को सोच नहीं पाते और यह एक  समस्या के बड़े रूप में सामने होता है|

Overthinking  को दूर करने के उपाय

अगर आप लगातार इस समस्या से परेशान हैं,तो  आपको खुद ही इससे दूर होने का समाधान खोजना होगा जिसमें हम आपकी मदद करेंगे|

अपने मन को स्थिर रखने की करें कोशिशजब भी आप ऐसी समस्या से ग्रसित हो, तो अपने मन को स्थिर रखने की कोशिश करना होगा, ताकि यह समस्या आगे  ना बढ़ सके और आप समय रहते इसका निवारण कर सकें|  इसके लिए आप अपना ध्यान दूसरी तरफ कर सकते हैं और दूसरे कामों में लगा सकते हैं ताकि आप बीती बातों को याद ना कर सके|

गहरी सांस लेना है जरूरीहमारा दिमाग एक प्रकार का मकड़ी का जाल होता है जिसमें कई सारे Negative और बुरे विचार  रहते हैं,  जिसकी वजह से लगातार  ओवरथिंकिंग की समस्या होने लगती है जिसके लिए अगर आप गहरी सांस लेते हैं, तो निश्चित रूप से आप इस समस्या से बाहर आ सकते हैं| 

किसी खेल में अपना ध्यान लगाएंअगर आप किस खेल में अपना ध्यान लगाएंगे तो इसमें आपका फायदा होगा और आप मानसिक रूप से स्वस्थ होते जाएंगे जिससे ओवरथिंकिंग से छुटकारा मिलेगा और आप कहीं ना कहीं फिट महसूस करेंगे|

पोषक तत्वों का रखें खास ध्यानजब भी आप किसी शारीरिक या मानसिक समस्या से ग्रसित हो, तो ऐसे मे विशेष पोषक तत्वों का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है, जो आपको शांति देता है और किसी भी समस्या से लड़ने के लिए आपका सहारा बनता है|  ऐसे  मैं आपको मुख्य रूप से प्रोटीन, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, वसा जैसे  पोषक  तत्व अनिवार्य रूप से लेना चाहिए जिससे आपको किसी भी प्रकार का नुकसान ना हो| 

बाहर घूमने जरूर जाएंअगर आप  कुछ दिनों के लिए परिवार या दोस्तों के साथ बाहर घूमने जाते हैं, तो इससे भी  आपकी  ओवरथिंकिंग की समस्या काफी हद तक कम हो जाएगी और आप खुद को कुछ दूसरे कामों में डाल सकेंगे,  जिससे आपके पास कुछ और सोचने के लिए समय नहीं बचेगा और आप भी सही तरीके से  लाइफ को एंजॉय कर पाएंगे| 

अंतिम शब्द 

इस प्रकार से आज हमने आपको ओवरथिंकिंग  के बारे में जानकारी दी है,  जिससे आप भी इस समस्या से जल्द से जल्द बाहर आ सकते हैं और फिर अपने जीवन को नई दिशा दे सकते हैं|  यह समस्या बहुत बड़ी नहीं है लेकिन कई बार  दिमाग में चल रही  उलझन की वजह से समस्या बड़ी हो जाती है,  ऐसे में खुद का खास ख्याल रखें और सकारात्मक बने रहे|

 उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये लेख पसंद आएगा इसे अंत तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद| 

Leave a Comment

error: Content is protected !!