Bluetooth क्या है | और कैसे काम करता है? संपूर्ण जानकारी

ब्लूटूथ क्या है, संपूर्ण जानकारी

आज के आधुनिक समय में हमारे आसपास कई सारी ऐसी चीजें आ चुकी हैं जिनसे हमारा जीवन पहले से कहीं अधिक सरल और सुगम बन गया है। कल तक जिन चीजों के लिए हमें संघर्ष करना पड़ता था आज  उन्हीं सारे कामों को करना बहुत ही आसान हो गया है| बदलते माहौल और भागमभाग वाली जिंदगी से आराम दिलाने में इन सारे उपकरणों का महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है।   उपकरणों का उपयोग करना भी बड़ा आसान होता है| आज हम जिस आधुनिक उपकरण की बात कर रहे हैं, उसका नाम है ब्लूटूथ| 

 आज हम आपको ब्लूटूथ के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं जिनसे आपको फायदा हो सके|

ब्लूटूथ क्या है?

Bluetooth क्या है

आज के समय में ब्लूटूथ का उपयोग बहुतायत से किया जाता है|  जिसका इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है आपने देखा होगा कि ब्लूटूथ का उपयोग युवा,  पुरुष, महिला, बुजुर्ग सभी आसानी से कर सकते हैं|  दरअसल ब्लूटूथ वायरलेस टेक्नोलॉजी के रूप में जानी जाती है जिसका इस्तेमाल  अक्सर इंटरनेट डाटा  को ट्रांसफर करने में किया जाता है।  इस  ब्लूटूथ में  किसी भी प्रकार के केबल, कार्ड या वायर की आवश्यकता नहीं होती है| आप चाहे तो अपनी किसी फाइल को  ब्लूटूथ में ट्रांसफर  कर सकते हैं| 

Bluetooth के अविष्कारक

Bluetooth का आविष्कारक   स्वीडिश दूरसंचार कंपनी  एरिकसन को माना जाता है| 

Bluetooth का मुख्य इस्तेमाल

ब्लूटूथ को कई सारे प्रकार में इस्तेमाल किया जाता है|  इसकी रेंज 10 m  से 50 m  तक होती है जिसमें मुख्य रुप से   स्मार्टफोन, कंप्यूटर, लैपटॉप, गेमिंग  मोड में इस्तेमाल किया जाता है| 

Bluetooth का इतिहास

आज के समय में ब्लूटूथ का मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता है लेकिन जब शुरुआत में ब्लूटूथ का अविष्कार हुआ उस समय लोगों को  इसकी ज्यादा जानकारी नहीं  थी|  आज हम आपको ब्लूटूथ के इतिहास के बारे में संपूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं|

  1. 1998 — ब्लूटूथ का जन्म हुआ| ब्लूटूथ को तकनीकी रूप से पहचाना जाने लगा|
  2. 1999–  1.0  अधिकारिक तौर पर जारी किया गया जिसमें comdex  द्वारा ब्लूटूथ को  “ बेस्ट ऑफ शो टेक्नोलॉजी अवार्ड” से घोषित किया गया|
  3. 2000—  इस समय पहली बार ब्लूटूथ को मोबाइल फोन और कंप्यूटर के माध्यम से कनेक्ट किया गया|
  4. 2001–   इस समय में  ब्लूटूथ sig inc  का गठन किया गया जिसमें पहली हैंडफ्री कार  कीट लांच की गई|
  5. 2002 — पहला जीपीएस रिसीवर ब्लूटूथ  सक्षम डिजिटल कैमरा बनाया गया| 
  6. 2003–  पहला ब्लूटूथ सक्षम MP3 प्लेयर लॉन्च किया गया|
  7. 2004–  इस समय ढाई सौ मिलियन  डिवाइस मैं ब्लूटूथ तकनीको एंबेडेड किया गया  और साथ ही साथ पहला सक्षम  स्टीरियो  हेडफोन लॉन्च किया गया|
  8. 2006–   ब्लूटूथ  वन बिलियन डिवाइस में इंस्टॉल किया गया|

ब्लूटूथ के मुख्य फीचर

Bluetooth का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान होता है लेकिन कई बार हम इसकी सही फीचर के बारे में नहीं जानते हैं और सही तरीके से इस्तेमाल भी नहीं कर पाते हैं। ऐसे में हम आपकी पूरी मदद करेंगे ताकि आपको ब्लूटूथ के फीचर के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके|

Also Read :

Artificial Intelligence Kya Hai?
कंप्यूटर कब और किसने बनाया?

  1. इसमें काम करते समय किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होती है|  इसमें बड़े ही आसानी से काम किया जा सकता है|
  2.  अगर आप गौर करेंगे तो आपको पता चलेगा कि यह अन्य दूसरे उपकरणों की अपेक्षा कहीं ज्यादा  सस्ते होते हैं,  जो किसी भी वर्ग के लोग आसानी से ही ले सकते हैं|
  3.  इसे किसी भी जगह आप बेझिझक इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि यह हर जगह अपने आप को मोडीफाई कर लेता है|
  4.  जब भी आप इसके माध्यम से इंटरनेट उपयोग करते हैं, तो आपको बहुत ही जल्द और आसानी से ही इंटरनेट की सुविधा मिल जाती है क्योंकि यह बहुत ही तेजी से काम करता है|

ब्लूटूथ से होने वाले बेहतरीन फायदे

अगर आप Bluetooth का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको इसके फायदे के बारे में जानना जरूरी है। Bluetooth से होने वाले फायदे आपके काम को और भी बेहतर बनाते हैं|

  1. ब्लूटूथ का सबसे बड़ा फायदा यह होता है इसमें किसी भी प्रकार का वायर नहीं होता और इस वजह से आप इसको कहीं भी आसानी से ले जा सकते हैं|  आप एक बात का ध्यान रखना होगा कि ब्लूटूथ  को हमेशा  सही डिवाइस  से ही पेयर करना होगा|
  2.  डाटा ट्रांसफर करते समय किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होती और आप आसानी से ही अपना काम कर लेते हैं|
  3.  इसको इस्तेमाल करने पर हमेशा लो पावर कंजप्शन होता है जिससे काम और भी आसान हो जाता है|
  4. आप चाहे तो ब्लूटूथ का इस्तेमाल अपनी वॉइस या फिर डाटा ट्रांसफर करने के लिए भी कर सकते हैं और हमेशा आपका डाटा इसमें सुरक्षित रहता है|  आपको अपने डेटा को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं होती है|
  5. अगर आप ड्राइविंग कर रहे हैं और आपके पास किसी का कॉल आ रहा है, तो आप ब्लूटूथ के माध्यम से कॉल रिसीव कर सकते हैं इससे आपको ड्राइविंग करते समय दिक्कत नहीं होगी और आप आसानी से ही अपनी बात पूरी कर पाएंगे|  ऐसा माना जाता है कि ड्राइविंग करते समय फोन में बात करना सही नहीं है तो ऐसे समय में ब्लूटूथ आपके बहुत काम आ सकता है|
  6.  आपको ब्लूटूथ सस्ते से सस्ते दामों में मिल जाएंगे इसलिए इसे खरीदना किसी भी वर्ग के लिए मुश्किल नहीं होता है|

ब्लूटूथ की वजह से होने वाले नुकसान

ऐसे तो ब्लूटूथ का इस्तेमाल हमेशा इसलिए किया जाता है ताकि आप  कम समय में सुविधा जनक काम कर सके लेकिन कई बार इसी ब्लूटूथ के नुकसान की वजह से आपको   मुश्किलें भी  झेलनी पड़ती है|

  1. आपने गौर किया होगा कि जब भी आप Bluetooth का इस्तेमाल करते हैं, तो वह दीवार के आर पार रहकर भी डाटा ट्रांसफर कर लेता है और यही कारण है कि कभी-कभी ब्लूटूथ की वजह से आपको भारी नुकसान झेलना पड़ सकता है क्योंकि यह पॉसिबल है कि इसकी वजह से आपका महत्वपूर्ण डाटा चोरी हो जाए|
  2. जब भी आप ब्लूटूथ का इस्तेमाल करेंगे तो इसमें आपकी बैटरी बहुत ज्यादा उपयोग में आ जाती है और कभी-कभी बैटरी बहुत जल्दी डाउन होने लगती है|
  3.  ब्लूटूथ की बैंडविथ बहुत कम होती है और इसीलिए इस्तेमाल करना कभी कभी मुश्किलों भरा होता है|

ब्लूटूथ नेटवर्क क्या होता है

कई जगह ऐसी होती है, जहां पर एक ही नेटवर्क से कई सारे ब्लूटूथ जुड़े होते हैं और आपस में जुड़े होने की वजह से यह एक बहुत बड़े ब्लूटूथ  नेटवर्क के रूप में सामने आते हैं|  नेटवर्क में हमेशा दो प्रकार के एलिमेंट पाए जाते हैं जिनमें पहला master  और दूसरा slave  होते हैं|

 Bluetooth में मुख्य रूप से दो प्रकार के नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाता है-

  1. Piconet–  यह मुख्य रूप से  इस्तेमाल  किया जाने वाला नेटवर्क है जिसमें  एक master और एक slave  हमेशा मौजूद रहते हैं। कभी-कभी इसमें एक से ज्यादा slaves  भी हो सकते हैं| piconet  मैं एक बार में आठ डिवाइस को एक साथ कम्युनिकेट  कर सकते हैं और जिन  से काम आसान हो जाता है|
  2. Scatternet–  जब multiple piconet  उपयोग किया जाता है उस समय  ऐसी स्थिति को scatternet  कहा जाता है| यह उन  मुख्य टाटा रेट को सपोर्ट करता है जो अलग-अलग वर्जन पर आधारित होते हैं|  जिनमें 720 kbps  से 24 mbps   कवर  कर पाने की क्षमता होती है।

ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी के विभिन्न प्रकार के वर्जन

जब भी आप कोई भी Bluetooth यूज करते हैं, तो हमेशा  उसका वर्जन अलग अलग ही होता है|  पिछले कुछ सालों में ब्लूटूथ की बहुत सारी  वैरायटी मार्केट में आ चुकी है जिसमें आप अपनी सुविधा के अनुसार उपयोग कर सकते हैं|  इसमें मुख्य रूप से v1.2, v2,0.v2.1, v3.0, v4.0, v4.1, v5,0 शामिल है|  इन सभी में अलग-अलग प्रकार की फ्रीक्वेंसी देखने को मिलेगी जिससे काम को आसानी से किया जा सकेगा|

ब्लूटूथ के महत्वपूर्ण कार्य

हम इसका उपयोग अपने दैनिक जीवन में भी बड़े ही आसानी से कर सकते हैं और जिन्हें करना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है। इन सारे कार्यों को आप घर बैठे ही कर सकते हैं|

  • इसका इस्तेमाल हम मुख्य रूप से किसी भी फाइल, डाटा,  इमेज, वीडियो, ऑडियो को ट्रांसफर करने के लिए उपयोग करते हैं|
  •  इसके माध्यम से कई सारे डिवाइस जैसे कि माउस, कीबोर्ड, प्रिंटर,  स्पीकर इत्यादि को  बड़े ही आसानी से कनेक्ट करते हुए अपने काम को किया जा सकता है|
  •  अगर आप चाहें तो Bluetooth के माध्यम से बिना किसी कंप्यूटर में  वायर लगाए आप किसी भी पेज का प्रिंट आउट निकाल सकते हैं|
  •  फ्लाइट में यात्रा करते समय  ईमेल भेजना  कभी-कभी आसान हो जाता है|
  •  अगर आप ड्राइविंग करना पसंद करते हैं, तो इसमें भी ब्लूटूथ  आपके काम आ सकता है|  जब भी आप अपनी कार को खड़े रखते हैं, तो ब्लूटूथ पूरे सिक्योरिटी के साथ  कार को लॉक कर सकता है|
  •  इसके माध्यम से किसी भी लैपटॉप ओर डेस्कटॉप  के बीच में कनेक्शन आसानी से किया जा सकता है|

अंतिम शब्द

इस प्रकार से हमने जाना कि Bluetooth आज के समय में बहुतायत से इस्तेमाल किया जाने वाला उपकरण है|  यह हमेशा हमारे काम को आसान बनाता है और किसी भी प्रकार की मुश्किलों से  भी बचा भी लेता है। मार्केट में कई प्रकार के ब्लूटूथ उपलब्ध हैं आप अपनी सुविधा के अनुसार इन्हें खरीद कर इस्तेमाल में ला सकते हैं| 

 उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आएगा|  धन्यवाद 

ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी क्या है?

जब भी आप कोई भी Bluetooth यूज करते हैं, तो हमेशा  उसका वर्जन अलग अलग ही होता है|  पिछले कुछ सालों में ब्लूटूथ की बहुत सारी  वैरायटी मार्केट में आ चुकी हैं|

मोबाइल में ब्लूटूथ का क्या काम होता है?

हम इसका उपयोग अपने दैनिक जीवन में भी बड़े ही आसानी से कर सकते हैं और जिन्हें करना बिल्कुल भी मुश्किल नहीं है। इन सारे कार्यों को आप घर बैठे ही कर सकते हैं|

Leave a Comment

error: Content is protected !!