ARTIFICIAL INTELLIGENCE in hindi – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है

ARTIFICIAL INTELLIGENCE  क्या है, जाने संपूर्ण जानकारी

 इंसानों ने हर क्षेत्र में विकास किया है जिसके बलबूते आज कई प्रकार की सफलताओं को हासिल किया जा सका है| प्राचीन समय से अब तक कई प्रकार की ऐसी चीजों का आविष्कार किया गया है,  जिनके बारे में कभी सोचा भी ना गया और आज उनका उपयोग सर्वाधिक रूप से किया गया है|  इस कड़ी में एक नया नाम जुड़ गया है, जो अब विकास के दरवाजे खोल चुका है, जो है ARTIFICIAL INTELLIGENCE,

आज हम आपको इस ARTIFICIAL INTELLIGENCE के बारे में संपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं, जो आपके लिए काफी मददगार साबित होंगे|

क्या है ARTIFICIAL INTELLIGENCE

ARTIFICIAL INTELLIGENCE in hindi

इसे हिंदी में हम कृत्रिम बुद्धिमत्ता के नाम से भी जानते हैं| आज  वैज्ञानिकों ने ऐसी महत्वपूर्ण मशीनों का विकास कर लिया है, जो मनुष्य की सोच को भी काबू कर सके और उचित दिशा में आगे बढ़ सके| इसके माध्यम से ऐसे कार्य किए जा सकते हैं, जो मुख्य रूप से मनुष्य द्वारा किए जाते हैं और जिनमें सोचने समझने की शक्ति का भी संपूर्ण विकास हो चुका होता है|  इसमें मुख्य रूप से आवाज को पहचानना, समस्या को समझना,  मस्तिष्क की तरह अपने दिमाग को कंट्रोल करना,अपने मस्तिष्क को विकसित कर पाना मुख्य रूप से Artificial intelligent  के अंतर्गत आता है|

 लगातार  ऐसी कोशिश की जा रही है कि  इस तरीके से मनुष्य की तरह ही सोच समझ को बढ़ाया जा सके और होने वाली समस्या को बढ़ने से रोका जा सके|

ARTIFICIAL INTELLIGENCE की खोज

इस महत्वपूर्ण खोज को अमेरिकी साइंटिस्ट JOHN MCCARTHY ने की|  सबसे पहले ही यह बात उनके दिमाग में आई जिससे कि आसानी से ही काम  मैं विस्तार लाया गया और आगे  बढ़ा गया। JOHN MCCARTHY  ने 1956 में एक विशेष सम्मेलन का आयोजन किया जिसे The dartmouth summer reserch project on Artificial Intelligence  का  नाम दिया गया, जिसमें  ऐसे लोगों को बुलाया गया, जिन्हें ऐसी बातों में दिलचस्पी हो| इस सम्मेलन को काफी हद तक कामयाब माना गया|

ARTIFICIAL INTELLIGENT संबंधित मुख्य चुनौती

 शुरुआत में ऐसी तकनीक को लाने में  कुछ मुख्य चुनौतियों का सामना करना पड़ा जिससे यह काम मुश्किल मालूम पड़ा। जैसे  ही इसे जल्दी धैर्य के साथ काम को आगे बढ़ाया गया तो इस काम में भी सफलता मिलती चली गई ।शुरुआत में मुख्य चुनौतियां रही इसे इस प्रकार से बनाना था जिससे कि इंसानों की तरह सोच का विकास किया जा सके। साथ ही साथ खुद  के जैसे ही एक नए प्रकार के तकनीक को बनाना जिसमें किसी भी प्रकार की खामी ना हो, एक बड़ी मुसीबत लगने लगी लेकिन वैज्ञानिकों की कोशिश और मेहनत की वजह से एक ऐसी मशीन हमारे सामने आकर खड़ी हो गई जो बिल्कुल मनुष्यों की तरह की थी और जिससे किसी प्रकार का नुकसान नहीं था| 

ARTIFICIAL INTELLIGENCE के मुख्य लक्ष्य

कई लोगों को इस बारे में सही जानकारी नहीं है।  यह ऐसी टेक्नोलॉजी है जो तेजी से विकास की ओर अग्रसर है। यह मनुष्य द्वारा बनाई गई टेक्नोलॉजी है जो भविष्य में अच्छे कार्य की ओर अग्रसर है। ऐसा माना जाता है कि यह मनुष्य की तुलना में कहीं बेहतर प्रणाली है जो हुबहू इंसानों की तरह होगी और पूरी दुनिया में आने वाले समय में जाने वाली है। इस तकनीक के कुछ मुख्य लक्ष्य बनाए गए हैं

  1. इंसानों की निर्णय क्षमता का विकास होना — इसे  ऐसी मशीन के रूप में विकास किया गया जो खुद ही सोच समझकर अपने कार्यों को आगे बढ़ा सके और किसी भी समस्या के आने पर उन्हें सुलझा भी सके आपने देखा होगा कि इस प्रकार के डिवाइस आज मार्केट में उपलब्ध है, जो आपके अनुसार आपकी इच्छाओं की पूर्ति करते हैं जिनमें से मुख्य है Google, home, Siri, Alexa etc,
  2. कार्य में इंसानों की तरह कुशलता का होना — आपने देखा होगा कि किसी भी मशीन में इंसानों की तरह कुशलता नहीं होती कि वह कोई भी गलती ना कर सके लेकिन Artificial intelligence  मैं ऐसी कोशिश की गई है कि किसी प्रकार की गलती ना हो सके और गलती होने पर भी उसमें सुधार लाकर आगे  बढ़ा जा सके|
  3. समय की बचत  होना– सामान्य रूप से ऐसा होता है कि किसी भी काम को करने में काफी समय लग जाता है लेकिन अगर इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का सही तरीके से उपयोग किया जाए तो कहीं ना कहीं इसमें समय की बचत होगी और कुछ भी कार्य को आसानी से जल्दी में किया जा सकेगा| 

ARTIFICIAL INTELLIGENCE के प्रकार

यह एक ऐसी तकनीक है, जो अब सारे प्रकारों में हमें मिल जाते हैं और जिनका उपयोग भी अलग तरीके से किया जा सकता है इनमें से प्रमुख प्रकारों की जानकारी हम आपको देने जा रहे हैं

  • WEAK ARTIFICIAL INTELLGENCE — ऐसा देखा गया है कि इस प्रकार का इंटेलिजेंस किसी विषय समस्या को पूरा करने में या खत्म कर देने में बहुत समय ले लेता है पर ऐसा ऊपरी रूप से प्रतीत होता है कि यह पूर्ण रूप से विकसित हो चुका है लेकिन ऐसा होता नहीं, इसीलिए इसे सबसे कमजोर Artificial intelligence  के रूप में देखा जाता है|
  •  STRONG ARTIFICIAL INTELLIGENCE– इसके माध्यम से एक निश्चित रूप से माइंड सेट हो जाता है, जो कहीं अधिक विकसित होता है और जो अपने कार्य को कर पाने में पहले से ज्यादा सक्षम हो पाता है जिससे आपकी सोच एक नए रूप में सामने आ सकती हैं| और आपका काम भी सही दिशा में आगे बढ़ सकता है|
  • REACTIVE MACHINE INTELLIGENCE– जब भी कोई नई तकनीक बनाई जाती है, तो ऐसी कोशिश की जाती है कि उसमें हर नए प्रकार का कार्य किया जाए जिससे कि पहले से अधिक विकास किया जा सके| इस प्रकार की मशीन में ऐसा देखा गया कि इसमें मेमोरी सही प्रकार से तो नहीं हो पाती है और अपने किसी भी प्रकार के अनुभव से दूर भी रहती है यह बस इस बात को पूर्ण कर पाती है कि सामने आने वाली किसी भी मशीन या तकनीक को देखकर अपना रिएक्शन दे पाती है और इसके अलावा कोई भी महत्वपूर्ण कार्य सामने नहीं आया है|
  • THEORY OF MIND– ऐसा देखा गया है कि इस प्रकार की मशीनों में संपूर्ण विकास हो पाता है जिसने सोचने समझने की शक्ति और अपने किसी भी कार्य के लिए निर्णय लेने की क्षमता का विकास हो पाया है विकास के मद्देनजर ही कई प्रकार के ऐसे निर्णय लिए जाते हैं जिससे आने वाली पीढ़ी को फायदा होने वाला  हो|
  • SELF AWARENESS– जब भी किसी भी कार्य को किया जाता है,  तो उसमें खुद की जागरूकता को बहुत ही महत्व दिया जाता है| इस प्रकार की मशीनों में ही ऐसा देखा गया है कि वह खुद को जागरूक करके ही इंसानों की तरह विकास कर पाने में सक्षम होते हैं और अपने कार्य को सही दिशा में आगे कर पाते हैं|

ARTIFICIAL INTELLIGENCE के मुख्य एप्लीकेशन

Artificial intelligence का कई क्षेत्रों में विकास किया जा चुका है और उसके कई सारे एप्लीकेशन भी मौजूद हो चुके हैं| 

  1. इस तकनीक के माध्यम से किसी भी विचार करते हुए समस्या का समाधान आसानी से ही किया जा सकता है जो सही दिशा में होता है और जिससे विचारों का भी सही समावेश हो पाता है|
  2. इस तकनीक के माध्यम से विभिन्न कार्यों की योजना बनाना आसान होता है जिसमें डिजिटलाइजेशन ,प्रबंधन, नेटवर्क अनुकूल करने की योजना है|
  3.  इसके माध्यम से देखा गया है कि बोलने और लिखने की क्षमता का विकास किया जा सकता है, जो पहले से कहीं बेहतर और सही तरीके से संपन्न हो पाती हो|
  4. आपने देखा होगा कि इस तकनीक से ज्ञान का विकास किया जा सकता है, जो वित्तीय, व्यापार, चिकित्सा, निदान धोखाधड़ी में बचाव के लिए महत्वपूर्ण हो सकता है|

ARTIFICIAL INTELLIGENCE का उपयोग

  1. कंप्यूटर गेम में
  2.  विजन सिस्टम में
  3.  स्पीच को पहचानने में
  4.  एक्सपर्ट सिस्टम में
  5.  नए मेडिसिन की खोज में
  6.  शेयर  मार्केट में
  7.    इंश्योरेंस में

भारत में ARTIFICIAL INTELLIGENCE की संभावनाएं

जिस प्रकार से भारत में वृद्धि होती जा रही है उस प्रकार से आपने देखा होगा कि  इस तकनीक में कई प्रकार की संभावनाएं नजर आ रही है जो कहीं ना कहीं हमें भविष्य को बेहतर करने में कारगर होते हैं|

  • यदि स्वास्थ्य  विभाग की बात की जाए तो इस क्षेत्र में कई सारी क्षमता को बढ़ाने के लिए और सामाजिक कल्याण में इस तकनीक का भरपूर उपयोग और संभावनाएं भी देखी जा रही है|
  •  भारत में रोबोटिक,   बीटा टेक्नोलॉजी प्रगति की अपार संभावनाएं स्थित है|
  •  देश में होने वाले कई प्रकार के सामाजिक कार्यों में भी Artificial intelligence  का विशेष योगदान देखा गया है, जो आने वाले संभावनाओं को बताता है|

पिछले ही वर्ष अक्टूबर में इस तकनीक के लिए कुछ रणनीति भी बनाई गई हैं जिसके अंतर्गत विकास की गारंटी ली जा सकती है और लोगों को भी इस विषय में जागरूक किया जा सकता है। बनाई गई रणनीति निम्न है-

  • ARTIFICIAL INTELLIGENCE की सुरक्षा निश्चित करना।
  •  इसके कानूनी और सामाजिक दायित्व को समझते हुए आगे बढ़ना|
  • ARTIFICIAL INTELLIGENCE  के कार्य बल का निर्माण करना|
  •  इसके होने वाले   बैच मार्क में माध्यम से मापन का मूल्यांकन करना|
  •  ऐसी कोशिश करना कि आने वाली पीढ़ी को भी इसके सारे उपयोग और महत्व के बारे में पूरी जानकारी हो सके|

ARTIFICIAL INTELLIGENCE के कुछ जरूरी कोर्स

अगर आप Artificial intelligence के बारे में सभी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो इस सिलसिले में कुछ मुख्य  कोर्स कर सकते हैं जो आपको प्रमुख यूनिवर्सिटी  मैं प्राप्त हो जाएंगे और इस बारे में अपनी जिज्ञासा को पूरी कर सकते हैं। साथ ही साथ किसी प्रकार की दिक्कत को भी दूर किया जा सकता है|

ARTIFICIAL INTELLIGENCE मैं सावधानी भी है जरूरी

अभी तक वैज्ञानिकों द्वारा कई प्रकार की खोज की गई है जिनमें से हर खोज इंसानों के लिए कहीं ना कहीं बेहतरीन का रास्ता दिखाते हैं लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि कुछ मुख्य खोजों की वजह से तकनीकी गड़बड़ी होने लगती है और हमारा बना बनाया काम भी खराब हो जाता है| ऐसे  मैं बहुत जरूरी है कि आप इस प्रकार के किसी भी तकनीक को सही प्रकार से जानकारी हासिल करने के बाद ही उपयोग करें| काम में होने वाली गड़बड़ी से मुश्किल हो सकती है और आप का बहुत बड़ा नुकसान भी हो सकता है| ऐसे भी बहुत आवश्यक है कि सावधानी रखते हुए अपना कार्य करें और इससे होने वाले नुकसान से बच सके तो बहुत अच्छा है|

अंतिम शब्द

इस प्रकार से हमने जाना कि ARTIFICIAL INTELLIGENCE  हमारे भविष्य के लिए एक स्वर्णिम अवसर है, जो हमें एक नया रास्ता दिखाता है और बंद हुए रास्ते को भी खोलने का काम करता है। ऐसे में अगर आप इससे संबंधित सारी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं आपके लिए सुनहरा अवसर हो जाता है| साथ ही हम यह भी कहना चाहेंगे कि इससे संबंधित किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी से बचें|  इससे संबंधित सारी जानकारी हमने आर्टिकल में दे दी है उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आएगी इस तकनीक का उपयोग करते हुए आप और आगे बढ़ेंगे| 

1 thought on “ARTIFICIAL INTELLIGENCE in hindi – आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है”

Leave a Comment

error: Content is protected !!